sponsor banner
sponsor
ads banner
sponsor banner
sponsor
ads banner
राष्ट्रीय मुक्केबाजीमैरी कॉम को हराने वाली तुलसी ने तमिल निर्देशक पर लगाए गंभीर...

मैरी कॉम को हराने वाली तुलसी ने तमिल निर्देशक पर लगाए गंभीर आरोप

विवादों में रही मशहूर बॉक्सर तुलसी हेलेन ने तमिल फिल्म निर्देशक सुधा कोंगारा पर 2016 के मुक्केबाज पर बनी स्पोर्ट्स ड्रामा इरुधि सुत्रु को लेकर उनकी कहानी चुराने का आरोप लगाया है।

ओलंपिक विजेता मैरी कॉम को हराया

तुलसी हेलेन दूनियां भर में लेडी मुहम्मद अली के नाम से जानी जाती है तुलसी हेलेन ने पहली बार 14 साल की उम्र में बॉक्सिंग में अपने करियर की शुरुआत की,

उन्होंने बॉक्सिंग में 30 पदक जीते और ओलंपियन एमसी मैरी कॉम को हराया. लेकिन राज्य मुक्केबाजी संघ के साथ विवाद ने उनके शानदार करियर को रोक दिया।

ये भी पढ़ें- ऑलेक्ज़ेंडर उसिक यूक्रेनी सरकार के लिए बनें नए एम्बेसडर

इरुधि सुत्रु मेरी असली कहानी

हाल में हीं तुलसी ने तमिल यूट्यूब चैनल पर इंटरव्यू में कहा, इरुधि सुत्रु मेरी असली कहानी है, फिल्म का नायक होने के बावजूद असल जिंदगी में मुझे ऑटो चलाने के लिए मजबूर किया जाता है, जबकि अभिनेताओं को पुरस्कार दिए जा रहे हैं और जश्न मनाया जा रहा है।

यौन उत्पीड़न की बात पर किसी ने नहीं भरोसा 

फिल्म में यौन उत्पीड़न की साजिश के बारे में बात करते हुए, तुलसी ने कहा, “जब मैंने इसकी शिकायत की, तो समाज ने मुझे गंभीरता से नहीं लिया, लेकिन एक बार जब यह एक फिल्म में सामने आया तो समाज ने मुझ पर विश्वास करना शुरू कर दिया।”

तुलसी हेलेन को आखिरी बार मिक्स्ड मार्शल आर्ट प्रमोशन सुपर फाइट लीग में तमिल वीरन्स फ्रैंचाइज़ी के लिए रिंग लेते हुए देखा गया था।

चोरी से हुई चोट बॉक्सिंग में लगी चोटों से कई ज्यादा गहरी

सुधा कोंगरा पर बात करते हुए उन्होंने कहा सुधा ने मुझे पूरी तरह से लूटने के बाद यह कहा कि मेरा इससे कोई संबंध नहीं है. इस तरह चोरी से हुई चोट मुझे बॉक्सिंग के दौरान लगी चोटों से कई ज्यादा है।

ये भी पढ़ें- ऑलेक्ज़ेंडर उसिक यूक्रेनी सरकार के लिए बनें नए एम्बेसडर

इरुधि सुत्रु की कहानी 

बता दें कि 2016 में सुधा कोंगारा द्वारा निर्देशित, इरुधि सुत्रु में एक बॉक्सिंग कोच की कहानी है और कैसे वह एक लड़की को बॉक्सिंग सिखाने के लिए गलियों से एक लड़की की पहचान करता है,

और बॉक्सिंग अधिकारियों के इर्द-गिर्द ड्रामा चलता है, फिल्म में आर माधवन और रितिका सिंह मुख्य भूमिका अदा किए हैं।

तुलसी ने एक मुक्केबाज के रूप में अपने करियर बनाने में कई कठिनाइयों का सामना किया है और उनकी कहानी को उन्हें बिना किसी श्रेय या किसी मुआवजे के दुनिया के सामने पेश किया गया।

ये भी पढ़ें- ऑलेक्ज़ेंडर उसिक यूक्रेनी सरकार के लिए बनें नए एम्बेसडर

Dheeraj Roy
Dheeraj Royhttps://boxingpulse.net/
मैं शहर का नया बॉक्सिंग पत्रकार हूं। सभी चीजों-मुक्केबाजी पर अंतर्दृष्टिपूर्ण, रोशनी वाली रिपोर्टिंग की अपेक्षा करें।
संबंधित लेख

सबसे अधिक लोकप्रिय