sponsor banner
sponsor
ads banner
sponsor banner
sponsor
ads banner
राष्ट्रीय मुक्केबाजी परिणामबॉक्सिंग फाइनल में लवलीना सहित इन खिलाड़ियों ने किया प्रवेश

बॉक्सिंग फाइनल में लवलीना सहित इन खिलाड़ियों ने किया प्रवेश

गुजरात राज्य में चल रहे 36वें राष्ट्रीय खेलों में मुक्केबाजों का बोलबाला देखा जा सकता है, जहां महिला या पुरुष दोनों ही मुक्केबाज रिंग में अपना जौहर दिखाते हिए बॉक्सिंग फाइनल में प्रवेश कर लिया है।

बॉक्सिंग फाइनल के लिए मुक्केबाजों का शानदार प्रदर्शन

टोक्यो में भारत के लिए कांस्य पदक जीतने वाली विजेता मुक्केबाज लवलीना बोरगोहेन और कॉमनवेल्थ खेलों में देश को पदक दिलाने वाली विजेता मोहम्मद हुसामुद्दीन के साथ-साथ,
जैस्मीन लैंबोरिया सहित कई मुक्केबाजो ने अपने-अपने भार वर्ग के फाइनल में प्रवेश करने के लिए शानदार जीत दर्ज की।
36वें राष्ट्रीय खेलों में इन मुक्केबाजों के अलावा सर्विस हैवीवेट मुक्केबाज संजीत, पंजाब की सिमरनजीत कौर, मनदीप कौर,
हरियाणा की अंकित शर्मा और मिनाक्षी की राष्ट्रीय चैंपियनशिप की रजत पदक विजेता जोड़ी ने अपने-अपने फाइनल में प्रवेश किया।
36वें राष्ट्रीय खेल गुजरात में महिलाओं के 75 किग्रा मिडिलवेट वर्ग में, लवलीना ने गुजराती रुचिता के खिलाफ अपनी जीत दर्ज कराई।
राष्ट्रीय खेल में भारतीय पुरुष मुक्केबाजो के 57 किग्रा फेदरवेट के वर्ग में,
मेजबान राज्य गुजरात के आसिफाली को हरियाणा के सचिन सिवाच ने 5-0 से हरा दिया।
अब सचिन सिवाच फाइनल में दो बार के राष्ट्रमंडल खेलों के पदक विजेता हुसामुद्दीन से भिड़ेंगे।

असम राज्य से इस वर्ष निराशाजन प्रदर्शन

असम राज्य के मुक्केबाज जो हमेशा से अपना दबदबा बनाते हैं इस बार इन्हें कांस्य से ही संतोष करना पड़ा।
असम के कई एशियाई चैंपियनशिप पदक विजेता को इस बार निराशा ही हाथ आई,
शिव थापा के लिए यह समय कठिन था, जो सर्विसेज आकाश के खिलाफ एक करीबी मुकाबले में 2-3 से हार गए।
शिव थापा के राज्य से खेल रहे उनके साथी जमुना बोरो (57 किग्रा) और पविलाओ बासुमतारी (60 किग्रा) ने भी अपने-अपने वर्ग में कांस्य पदक ही जीता।

महाराष्ट्र मुक्केबाज ने धनंजय तिवारी को दी जीत की श्रद्धांजलि

महाराष्ट्र के मुक्केबाजों में इस बार सबसे बड़ा नाम निखिल दुबे का है,
जिसने अपने कोच धनंजय तिवारी को श्रद्धांजलि के तौर पर अपनी जीत अर्पित की।
निखिल ने मिजोरम के माल्सावमितलुआंगा को 4-1 से हराकर मुकाबला जीत लिया।
ये भी पढ़े- सदी के महान मुक्केबाज मुहम्मद अली ने क्यो अपना नाम बदला?
Dheeraj Roy
Dheeraj Royhttps://boxingpulse.net/
मैं शहर का नया बॉक्सिंग पत्रकार हूं। सभी चीजों-मुक्केबाजी पर अंतर्दृष्टिपूर्ण, रोशनी वाली रिपोर्टिंग की अपेक्षा करें।
संबंधित लेख

सबसे अधिक लोकप्रिय