sponsor banner
sponsor
ads banner
sponsor banner
sponsor
ads banner
अन्य कहानियांभोपाल में जीत से अभियान की शुरुआत कर Nikhat Zareen ने कही...

भोपाल में जीत से अभियान की शुरुआत कर Nikhat Zareen ने कही यह बातें

भोपाल में 6th Elite Women’s National Championship की शुरुआत हो गई है 20 दिसंबर से 26 दिसंबर 2022 तक चल रहे आयोजन के पहले दिन मौजूदा महिला विश्व चैम्पियन Nikhat Zareen ने मुकाबला जीतकर अभियान की शुरुआत की। फ्री प्रेस से बातचीत करते हुए उन्होंने बॉक्सर के रूप में अपने सफर के बारे में बताया-

यह भी पढ़ें– 6th महिला राष्ट्रीय चैम्पियनशिप: पहले दिन इन मुक्केबाजों ने जीता मुकाबला

Nikhat Zareen से पुछे गए सवाल

निखत से पुछे जाने पर कि वो बॉक्सिंग में क्यों शामिल हुई, इस पर उन्होनें कहा मैं हमेशा एक मुक्केबाज रही हूं, और जब मुझे पता चला कि मुक्केबाजी में लड़कियां नहीं हैं, तो मैं और भी दृढ़ हो गई और शुरुआत में मैं अपने जिले निजामाबाद की पहली महिला मुक्केबाज थी।

बॉक्सिंग में निखत जरीन ने करियर की शुरुआत को लेकर बताया कि जब मैंने बॉक्सिंग शुरू की, मैं स्कूल में थी, और हमारे पास वहां कोई बॉक्सिंग रिंग नहीं थी। हम एक छोटे से मंच पर अभ्यास करते थे।

बॉक्सिंग में निखत का खराब दौर

मैंने कुछ समय पहले अपना कंधा चोटिल कर लिया था और इसने मेरे करियर का एक साल बर्बाद कर दिया। जिसके बाद लोग कहने लगे थे, कि मेरा करियर अब खत्म हो गया है, लेकिन मैंने इसका डटकर मुकाबला किया, और वापस कई मुकाबले जीते। जब मैंने अपने देश के लिए मेडल जीता तो लोग बदल गए वो मेरी तारीफ करने लगे। अब लोग मेरा समर्थन करते हैं, और यह अच्छा लगता है।

यह भी पढ़ें– 6th महिला राष्ट्रीय चैम्पियनशिप: पहले दिन इन मुक्केबाजों ने जीता मुकाबला

परिवार में कौन बॉक्सिंग करने के खिलाफ था

मेरी मां इसका विरोध नहीं कर रही थीं। उसे बस इस बात का डर था कि कहीं मैं बॉक्सिंग करके अपना चेहरा खराब न कर लूं। वह कहती थी, “कौन उससे शादी करने जा रहा है?” लेकिन मैंने हमेशा उससे कहा, “जब मैं जीवन में कुछ बड़ा कर लूंगी तो कई लोग मुझसे शादी करने के लिए कतार में खड़े होंगे।”

यह भी पढ़ें– 6th महिला राष्ट्रीय चैम्पियनशिप: पहले दिन इन मुक्केबाजों ने जीता मुकाबला

ट्रेनिंग केंद्र शुरू करना चाहती है निकहत

सवालों के जवाब पर जब उनसे पुछा गया कि क्या वह ट्रेनिंग केंद्र शुरु करना चाहेंगी तो जरीन ने कहा हां! वास्तव में, मुझे अच्छा लगेगा अगर सरकार मुझे कुछ जमीन दे जहां मैं अपना प्रशिक्षण केंद्र स्थापित कर सकूं। मैं वहां लड़कियों को प्रशिक्षित करूंगी और इससे देश में अधिक मुक्केबाजी प्रतिभाएं पैदा करने में मदद मिलेगी।

यह भी पढ़ें– 6th महिला राष्ट्रीय चैम्पियनशिप: पहले दिन इन मुक्केबाजों ने जीता मुकाबला

Dheeraj Roy
Dheeraj Royhttps://boxingpulse.net/
मैं शहर का नया बॉक्सिंग पत्रकार हूं। सभी चीजों-मुक्केबाजी पर अंतर्दृष्टिपूर्ण, रोशनी वाली रिपोर्टिंग की अपेक्षा करें।
संबंधित लेख

सबसे अधिक लोकप्रिय