sponsor banner
sponsor
ads banner
sponsor banner
sponsor
ads banner
अंतर्राष्ट्रीय मुक्केबाजीरियाकपोरे cruiserweight मे कर रहे है वापसी

रियाकपोरे cruiserweight मे कर रहे है वापसी

रियाकपोरे cruiserweight मे कर रहे है वापसी, रियाकपोरे उन बोक्सर्स मे से एक है जो cruiserweight मे अलग से अपना नाम बनाना चाहते है। इस 21 जनवरी को युबंक और स्मिथ के अंडर कार्ड पर रियाकपोरे और पोलैंड के करज़िस्तोफ़ एक दूसरे के साथ लड़ने वाले है। रियाकपोरे कि वापसी ने cruiserweight के माप दंड को और भी बेहतर करने के इरादे से आए है।2018 में टोनी बेलेव को हराकर पूर्व  cruiserweight चैंपियन ऑलेक्ज़ेंडर उस्यक् का हैवीवेट कि और जाना पड़ा।

रियाकपोरे करने जा रहे है बड़ी फाइट

लेकिन 4 साल बाद कही बोक्सर्स 200 एलबी बॉक्सिंग डिवीजन को एक बार फिर से ऊपर उठा रहे हैं।यूनाइटेड किंगडम में मुक्केबाजी प्रशंसकों के लिए अच्छी खबर यह है कि इनमें से कई नाम ब्रिटिश हैं, और अगले 12 महीनों में स्काई स्पोर्ट्स पर लड़ेंगे। सबसे पहले इस इवेंट मे हाई लाइट होने का मौका पाने वाले रिआकोपोर्हे है, जो लियाम स्मिथ और क्रिस यूबैंक जूनियर के ब्रिटिश के अंडरकार्ड पर पूर्व वर्ल्ड चैंपियन क्रिज़्सटॉफ़ ग्लोवाकी से लड़ने वाले है।

रिआकोपोरे को वर्ल्ड टाइटल के शॉट से पहले आखिरी फाइट की उम्मीद है, जो कुछ फाइटरस् के साथ होने की उम्मीद जताई जा रही है। उनमे से पहले है लॉरेंस ओकोली, ओकोली इससे पहले WBO cruiserweight चम्पियन रह चुके है। उन्होंने हाल ही मे रिआकोपोरे के प्रतिद्वंदी को हराकर उनसे 21 तारीक को लड़ने वाले है। उन्होंने अपने टाइटल को दो बार डिफेंड कर चुके है, जिसमे उन्होंने जीत भी हासिल करी है।

पढ़े : क्या Undertaker रॉयल रंबल मे वापसी कर सकते है

ओकोली खुद 6.5 इंच के है और उन्होंने अपने को हेवी वेघट क्लास मे बढ़ा सकते है आसानी से पर वो अपने आप को cruiserweight क्लास मे अपने आप को पूर्ण करना चाहते है, बाद मे वो हेवी वेघट मे जाने कि सोचेंगे उन्होंने कहा। पर बॉक्सिंग मे ज्यादा ध्यान न दे पाने के कारण वो इस क्लास को पार करने मे देरी कर रहे है।

दूसरे बोक्सर्स जो रिआकोपोरे के साथ लडाई कर सकते है वो है जै ओपेटिया ब्रिटिश लोगो ने ज्यादा तर उनके बारे मे नही सुना होगा। पर उन्होंने पिछले साल मे एक बड़ा अपसेट किया मैरिस ब्राइडिस को हराकर उन्होंने बेल्ट अपने नाम किया था। ओपेटिया ने उसके बाद आने वाली सारी लडाईयाँ जीती थी पर आखिर में उस्यक् से हार गए थे।

  • बॉक्सिंग चैंपियनशिप
  • WBO
Satish Kumar
Satish Kumarhttps://boxingpulse.net/
बॉक्सिंग मेरा पैशन है। मैं बॉक्सिंग और बॉक्सिंग की कहानियों के बारे में लिखता हूं। और मुझे आपके साथ बॉक्सिंग पर अपने विचार साझा करना अच्छा लगता है।
संबंधित लेख

सबसे अधिक लोकप्रिय