sponsor banner
sponsor
ads banner
sponsor banner
sponsor
ads banner
राष्ट्रीय मुक्केबाजीWomen's World Boxing Championship: तीन मुक्केबाजों पर होगी नजर

Women’s World Boxing Championship: तीन मुक्केबाजों पर होगी नजर

Women’s World Boxing Championship: इस साल IBA महिला विश्व मुक्केबाजी 2023 की मेजबानी भारत कर रहा है जहां दिल्ली में इस टूर्नामेंट में भारत की अगुवाई विश्व चैंपियन निकहत ज़रीन और टोक्यो लवलीना बोरगोहेन करेंगी।

चैंपियनशिप 15 मार्च से 26 मार्च तक नई दिल्ली के इंदिरा गांधी खेल परिसर में आयोजित की जाएगी।

यह भी पढ़ें– 9 देशों ने भारत में world boxing championship का बहिष्कार किया

महिला विश्व मुक्केबाजी चैंपियनशिप तीसरी बार आयोजित

तीसरी बार, भारतीय मुक्केबाजी महासंघ (BFI) IBA महिला विश्व मुक्केबाजी चैंपियनशिप की मेजबानी करेगा।

टूर्नामेंट की शुरुआत के बाद से किसी भी देश द्वारा सबसे अधिक है, और इस आयोजन के लिए अब तक 74 देशों के 350+ मुक्केबाजों ने पंजीकरण कराया है।

यह भी पढ़ें– 9 देशों ने भारत में world boxing championship का बहिष्कार किया

Women’s World Boxing Championship में 20 करोड़ का पूल

इस चैंपियनशिप के लिए 20 करोड़ रुपये का पुरस्कार पूल घोषित किया गया, जिसमें स्वर्ण पदक विजेताओं को 10 करोड़ रुपये मिलेंगे।

मुक्केबाज़ जो अपनी श्रेणियों में दूसरे या तीसरे स्थान पर आते हैं और जो कांस्य लेते हैं उन्हें 5 करोड़ रुपये के पूल से पुरस्कार मिलेगा।

IBA महिला विश्व मुक्केबाजी चैंपियनशिप में भारतीय प्रशंसको की नजर इन तीन शीर्ष मुक्केबाजो पर बनी रहेगी।

यह भी पढ़ें– 9 देशों ने भारत में world boxing championship का बहिष्कार किया

1.निकहत ज़रीन

Women’s World Boxing Championship में 50 किग्रा वर्ग में जरीन अपने खिताब का बचाव करेंगी।

उन्हें 2022 में इस्तांबुल, तुर्की में IBA महिला विश्व मुक्केबाजी चैंपियनशिप में विश्व चैंपियन बनी।

निकहत ज़रीन, मौजूदा विश्व चैंपियन, मुक्केबाज़ों की वर्तमान फसल में से एक हैं, जिन्होंने अंतरराष्ट्रीय स्तर पर सफलता हासिल की है।

मुक्केबाज 2022 में सीनियर विश्व चैंपियनशिप में स्वर्ण जीतने वाली पांचवीं भारतीय महिला बनीं।  हाल ही में भोपाल में संपन्न राष्ट्रीय चैम्पियनशिप में स्वर्ण पदक जीते।

यह भी पढ़ें– 9 देशों ने भारत में world boxing championship का बहिष्कार किया

2.लवलीना बोर्गोहेन

लवलीना बोर्गोहेन (75 किग्रा), 2020 टोक्यो कांस्य पदक विजेता, के पास दो विश्व चैम्पियनशिप कांस्य पदक हैं।

वह सात अन्य ओलंपिक पदक विजेताओं के साथ आगामी चैंपियनशिप में गौरव के लिए प्रतिस्पर्धा करेंगी।

25 वर्षीय ने गोल्ड कोस्ट राष्ट्रमंडल खेलों में भारत का प्रतिनिधित्व किया है।

2020 में, वह टोक्यो ओलंपिक के लिए क्वालीफाई करने वाली पहली असमिया मुक्केबाज़ बनीं, मैरी कॉम के बाद ओलंपिक पदक जीतने वाली भारत की दूसरी महिला मुक्केबाज़ बन गईं।

यह भी पढ़ें– 9 देशों ने भारत में world boxing championship का बहिष्कार किया

3.नीतू घनघास

2022 में बर्मिंघम में राष्ट्रमंडल खेलों में स्वर्ण पदक जीतने वाली नीतू घनघास भी 48 किग्रा भार वर्ग में देश के लिए प्रतिस्पर्धा करेंगी।

दो बार की यूथ वर्ल्ड चैंपियन अपने प्रमुख पदकों के संग्रह में इजाफा करना चाहेंगी।

यह भी पढ़ें– 9 देशों ने भारत में world boxing championship का बहिष्कार किया

Dheeraj Roy
Dheeraj Royhttps://boxingpulse.net/
मैं शहर का नया बॉक्सिंग पत्रकार हूं। सभी चीजों-मुक्केबाजी पर अंतर्दृष्टिपूर्ण, रोशनी वाली रिपोर्टिंग की अपेक्षा करें।
संबंधित लेख

सबसे अधिक लोकप्रिय