sponsor banner
sponsor
ads banner
sponsor banner
sponsor
ads banner
अन्य कहानियांबॉक्सिंग इतिहास में डोंटे वाइल्डर का सबसे प्रभावशाली नॉकआउट

बॉक्सिंग इतिहास में डोंटे वाइल्डर का सबसे प्रभावशाली नॉकआउट

बीते शनिवार को वाइल्डर ने अपने विरोधी रॉबर्ट हेलेनियस के साथ मुकाबले में कुछ ऐसा कर दिखाया जिसने पूरी दुनियां को हैरत में डाल दिया. उन्होंने फाईट के दौरान  अब तक के सबसे प्रभावशाली नॉकआउट से मैच को आसानी से जीत लिया।

यह भी पढ़ें- इंटरनेट पर ट्रेंड कर रही एका केरुंग ने बॉक्सिंग से की थी शुरुआत

UFC कमेंटेटर रोगान ने इसे मौत का पंच बताया

इस पर UFC के कमेंटेटर और पॉडकास्टर जो रोगान ने हाल ही में एक इंस्टाग्राम पोस्ट में अमेरिकी खिलाड़ी को पंच को “मौत का स्पर्श” कहते हुए कहा कि डोंटे वाइल्डर ने अपने विरोधियों के खिलाफ अपनी क्षमता को दिखाते हुए पर आश्चर्य व्यक्त किया है।

शनिवार रात का उनका केवल तीसरा लैंडेड पंच था जिससे उन्होंने मुकाबले को बड़ा ही आसान बना लिया. टायसन फ्यूरी से बैक-टू-बैक हार के बावजूद खुद को अमेरिका के प्रमुख हैवीवेट और डिवीजन में एक मुख्य दावेदार के रूप में फिर से स्थापित करने के लिए बस इतना ही आवश्यक था जितना उन्होनें रिंग में कर दिखाया।

यह भी पढ़ें- इंटरनेट पर ट्रेंड कर रही एका केरुंग ने बॉक्सिंग से की थी शुरुआत

बॉक्सिंग इतिहास में डोंटे वाइल्डर का केओ

अब इस बात को लेकर चर्चा चल रही है कि बॉक्सिंग इतिहास में सबसे भारी हिटरों की बात करें तो वाइल्डर कहां रैंक करता है।

रोगन ने कहा, वाइल्डर “सबसे प्रभावशाली” है, वाइल्डर के पास अपने विरोधी के लिए ‘मौत का स्पर्श’ है।

उन्होंने कहा: “यह पूरी तरह से आश्चर्यजनक ताकत का प्रदर्शन है जो वाइल्डर द्वारा देखा गया. वह वास्तव में सबसे अलग है जिसे मैंने हेवीवेट डिवीजन के इतिहास में कभी देखा है. आप इनके साथ लड़ते हुए कोई गलती नहीं कर सकते हैं।

“मुक्केबाजी के इतिहास में कई अविश्वसनीय केओ कलाकार रहे हैं, लेकिन मेरे लिए, वह सबसे प्रभावशाली है।”

हेलेनियस पर वाइल्डर की नॉकआउट जीत का विश्लेषण करते हुए, रोगन ने कहा: “यदि आप इस पंच को देखते हैं तो यह पूरी तरह अलग था उनके मौत के पंच से उनका प्रतिद्वंद्वी तुरंत नीचे गिर गया. इसे महान MMA कोच फिरास ज़ाहाबी कहते हैं ‘मौत का स्पर्श’

साक्षत्कार के दौरान भावुक हुए वाइल्डर

वाइल्डर अपनी जीत के बाद पत्रकारों के सामने रोया, क्योंकि उसने 30 वर्षीय पूर्व लड़ाकू एथलीट प्रिचार्ड कोलन की बात करते हुए कहा जिसे 2015 में टेरेल विलियम्स को अपने आखिरी मैच में मस्तिष्क की चोट का सामना करना पड़ा था

वाइल्डर ने अपने KO को वापस देखा और लड़ाई के बाद कहा: “मैं उससे अपनी दूरी बनाए रखने की कोशिश कर रहा था, रॉबर्ट के पास एक चैंपियन का दिल है, मुझे उस पर बहुत गर्व है,” वाइल्डर इंटर्व्यू में इस पर बोलते हुए उनकी आवाज कांपने लगी थी।

यह भी पढ़ें- इंटरनेट पर ट्रेंड कर रही एका केरुंग ने बॉक्सिंग से की थी शुरुआत

Dheeraj Roy
Dheeraj Royhttps://boxingpulse.net/
मैं शहर का नया बॉक्सिंग पत्रकार हूं। सभी चीजों-मुक्केबाजी पर अंतर्दृष्टिपूर्ण, रोशनी वाली रिपोर्टिंग की अपेक्षा करें।
संबंधित लेख

सबसे अधिक लोकप्रिय