sponsor banner
sponsor
ads banner
sponsor banner
sponsor
ads banner
अंतर्राष्ट्रीय मुक्केबाजीब्रेकेिंग: टायसन फ्यूरी के USA में प्रवेश पर लगा प्रतिबंध बरकरार

ब्रेकेिंग: टायसन फ्यूरी के USA में प्रवेश पर लगा प्रतिबंध बरकरार

टायसन फ्यूरी बॉक्सिंग की दुनिया में दिग्ग्ज खिलाड़ियों में से एक है. उनके 23 वर्षीय सौतेले भाई टॉमी फ्यूरी ने एमएमए ऑवर पर बोलते हुए कहा कि उन्हें अभी भी USA में प्रवेश करने से प्रतिबंधित किया गया है।

ये भी पढ़ें- ASBC एशियाई मुक्केबाजी चैंपियनशिप में महिलाओं का दबदबा

USA में प्रवेश पर टायसन फ्यूरी पर क्यो लगा प्रतिबंध

मुक्केबाजी में ‘द जिप्सी किंग’ खेल के सबसे बड़े नामों में से एक है, उनके बड़े मुकाबलो में डोंटे वाइल्डर, डिलियन व्हाईट और डेरेक चिसोरा जैसे बड़े नामों पर उनकी नॉकआउट जीत ने उन्हें सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ियों में जाने जाते है।

रिंग के अंदर टायसन फ्यूरी जितना बड़ा नाम है, रिंग के बाहर वो उतने ही ज्यादा विवादों से घिरे हैं. व्लादिमीर क्लिट्स्को के साथ 2015 में जीत के बाद, फ्यूरी ने स्टेरॉयड के लिए सकारात्मक परीक्षण किया और उसे निलंबित कर दिया गया।

टायसन फ्यूरी को वर्तमान में बॉक्सिंग प्रमोटर और ड्रग-ट्रैफिकर डेनियल किनाहन के साथ संबंधों के कारण संयुक्त राज्य अमेरिका से प्रतिबंधित कर दिया गया है।

इस साल की शुरुआत में, संयुक्त राज्य सरकार ने घोषणा की कि वे किनाहन के साथ जुड़े सैकड़ों लोगों को देश में प्रवेश करने की अनुमति नहीं देंगे। उन व्यक्तियों में से दो टायसन फ्यूरी और उनके भाई टॉमी हैं।

ये भी पढ़ें- ASBC एशियाई मुक्केबाजी चैंपियनशिप में महिलाओं का दबदबा

निलंबित के बाद नशीली दवाओं में टायसन फ्यूरी

ऐसा कहा जाता है कि निलंबित होने के बाद से  वह नशीली दवाओं की लत से जूझता रहा जिस कारण उसका वजन बढ़ गया. लेकिन कुछ समय बाद पूर्व चैंपियन अपनी जिंदगी पर काबू पाने में सफल रहे और तीन साल बाद बॉक्सिंग रिंग में वापसी की।

अपने अगले मुकाबले में टायसन फ्यूरी 3 दिसंबर को यूके में डेरेक चिसोरा से डब्ल्यूबीसी हैवीवेट चैम्पियनशिप के लिए मुकाबला करेंगे।

ये भी पढ़ें- ASBC एशियाई मुक्केबाजी चैंपियनशिप में महिलाओं का दबदबा

प्रतिबंध टॉमी फ्यूरी का बयान

टॉमी फ्यूरी ने कहा, “मुझे नहीं पता ये सब क्या हो रहा है, इसे लेकर मैं अपने वकीलों और अपनी कानूनी टीम से बात कर रहा हूं

“मैं उम्मीद कर रहा हूं कि यह जल्द से जल्द हल हो जाएगा, क्योंकि मैं अमेरिका आना चाहता हूं। लेकिन अगर यह हल नहीं होता है तो इसमें लंबा समय लगेगा मैं उस पर नहीं बोल सकता कि इसमें कितना समय लगने वाला है।

ये भी पढ़ें- ASBC एशियाई मुक्केबाजी चैंपियनशिप में महिलाओं का दबदबा

Dheeraj Roy
Dheeraj Royhttps://boxingpulse.net/
मैं शहर का नया बॉक्सिंग पत्रकार हूं। सभी चीजों-मुक्केबाजी पर अंतर्दृष्टिपूर्ण, रोशनी वाली रिपोर्टिंग की अपेक्षा करें।
संबंधित लेख

सबसे अधिक लोकप्रिय